झांसी:- कृषक बन्दु ध्यान दें अपनी फसलो को जड़ सड़न, तना सड़न, उकठा, झुलसा, सफेद गिडार, गुजिया आदि भूमि जनित कीटाणुओ और रोगो से सुरक्षा हेतु बायोपेस्टीसाइड टाइकोडर्मा या व्यूवेरिया वैसियाना को भूमिशोध हेतु 2.5 किलोग्राम/ हे0 की दर से लगभग 75 किलोग्राम गोबर की सड़ी खाद में मिलाकर हल्के पानी का छिंटा देकर 8-10 दिन छाया में रखने के बाद बुवाई से पूर्व अन्तिम जुताई में भूमि में मिलाकर प्रयोग करें। बीजशोधन हेतु टाइकोडर्मा 4 ग्रा0/कि0ग्रा0 बीज में अच्छी तरह से मिलाकर बुआई करें। टाइकोडर्मा के कवक तन्तु हानिकारक फंफूदी के कवक तन्तुओ लपेटकर या सीधे अन्दर घुसकर उनका रस चूस लेते है। इससे अतिरिक्त बीज के चारों ओर सुरक्षा दीवार बनाकर हानिकारक फंफूदी से सुरक्षा देते है। कृषक अपने नजदीकी ब्लाक स्थित कृषि रक्षा इकाई से सम्पर्क कर टाइकोडर्मा या व्यूवेरिया वैसियाना 75 प्रतिशत अनुदान पर प्राप्त कर सकते है एवं किसी भी प्रकार की समस्या हेतु जिला कृषि रक्षा अधिकारी झांसी से सम्पर्क स्थापित कर समस्या का त्वरित निदान प्राप्त करें।

रिपोर्ट-जिला कृषि रक्षा अधिकारी द्वारा

0

LEAVE A REPLY