झांसी–वैसे तो बुन्देलखण्ड की भौगोलिक स्थिति ही मन को लुभाने वाली है, यहां की कल कल करती नदियां, पर्वत और झरने देखकर आप मंत्रमुग्ध हो जायेंगें। कुछ इसी तरह का प्राकृतिक सौन्दर्य देखने को मिलता है झांसी जिले में बने सुकवां-ढुकवां बांध पर। झांसी से करीब 35 किलोमीटर की दूरी पर बेतवा नदी पर बना बांध प्राकृतिक सौन्दर्य से घिरा हुआ है। यहां पहुंचने के बाद आप दुनियाभर की थकान से निजात महसूस करेंगें। चारों तरफ बांध की ऊचांईयों से गिरता सफेद पानी आपको मंत्रमुग्ध कर देगा। यहां की तरफ ना सिर्फ क्षेत्रीय लोग घूमने और पिकनिक मनाने आते हैं बल्कि फिल्म और वीडियो शूट कराने के लिए भी लोग यहां आते हैं। आपको बता दें कि बदरी नाथ की दुलहनियां जैसी बड़े पर्दे की फिल्मों को भी यहां शूट किया गया है। पहाड़ के पत्थरों पर बहता पानी सैलानियों को अपना ओर आर्कषित करता है। हमने भी पाया कि कुछ लोग भी यहां सिर्फ फोटो शूट कराने आये थे। इसके अलावा भी बाहर से कई सैलानी यहां पर घूमने के लिए आये थे। जिन्होने बताया कि उन्हे यकी नहीं होता कि बुन्देलखण्ड में भी इतने खूबसूरत स्थान मौजूद हैं। यहां आने के बाद उनका यहां ठहर जाने का मन होता है। इस खूबसूरत स्थान पर कई सैलानी तो दिखे लेकिन यहां कोई भी सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम नहीं दिखे। बबीना नगर से करीब आठ किलोमीटर दूर जंगली क्षेत्र में स्थान इस बांध में प्रशासन को सुरक्षा व्यवस्था करनी चाहिए, जिससे यहां आने वाले लोग खुद को सुरक्षित महसूस कर सकें।

झाँसी–मनीष अली

 

 

0

LEAVE A REPLY