भारतीय कप्तान विराट कोहली ने न्यूजीलैंड के खिलाफ छह रनों से मिली रोमांचक जीत के बाद कहा कि रोमांच से भरे आखिरी पलों में उन्होंने सारी जिम्मेदारी अपने गेंदबाजों के ऊपर छोड़ दी थी जो अपनी रणनीति के अनुसार गेंदबाजी करके टीम को जीत दिलाने में सफल रहे। आखिरी के ओवरों में वह न्यूजीलैंड पर दवाब बनाने में सफल रहे।

बता दें कि पहले बल्लेबाजी करते हुये टीम इंडिया ने 337 रनों के विशाल स्कोर खड़ा किया था। जवाब में रनों का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड की टीम ने सात विकेट पर 331 रन बनाए, लेकिन आखिरी मौके पर हालात काफी तनावपूर्ण हो गए और कीवी टीम 6 रन से मैच और सीरीज हार गई।

कप्तान कोहली ने कहा कि, ‘न्यूजीलैंड को श्रेय जाता है, उन्होंने हमें तीनों मैच में चुनौती दी और हमें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए मजबूर किया। आखिरी मौके पर मैंने सारी जिम्मेदारी गेंदबाजों पर छोड़ने का फैसला किया ताकि वे जैसी चाहें वैसी गेंदबाजी करें और यही वजह थी कि मैं शांत बना रहा।
कोहली बोले, ‘मैच के दौरान दूसरी पारी में ओस भी थी और खुशी है कि साथी खिलाडी टीम को जीत दिलाने में सफल रहे। विकेट आसान था और गेंद अच्छी तरह से बल्ले पर आ रही थी। इसलिए मुझे लग रहा था कि हमने 25 रन कम बनाए। लेकिन हमें खुशी इसलिए है कि गेंदबाजों ने सही समय पर अच्छा प्रदर्शन किया।

कोहली के कहा, ‘यह हमारे लिए नाकआउट मैच जैसा था और खिलाडियों ने जज्बा दिखाया।’ कप्तान कोहली ने इस मैच में अपना 32वां शतक बनाया और इस बीच वह वनडे में सबसे तेज 9000 रन पूरे करने वाले बल्लेबाज भी बन गए।

0

LEAVE A REPLY