दीपावली का त्योहार मंगलवार को धनतेरस पर्व के साथ शुरु हो गया है। मंगलवार को आयुर्वेद के देवता भगवान धनवंतरी की पूजा की जाएगी। औषद्यालयों में विशेष पूजा अर्चना होंगी। धन के देवता कुबेर की पूजा भी होगी। इसी के साथ बाजारों में धन की वर्षा होगी। धनतेरस एवं दीपोत्सव को लेकर बाजार सज गए हैं। मंगलवार को लोगों द्वारा इस दिन सोने, चांदी या मिट्टी के गणेश प्रतिमा खरीदी जाएंगी। अन्य वस्तुओं की भी खरीददारी बेहद शुभ मानी जाती है। इस दिन मृत्यु के देवता यम की पूजा भी होती है। अकाल मृत्यु के नाश के लिए शाम यमराज के लिए दीपदान किया जाएगा। शाम को देवालयों, घर आंगन पर दीप मालिका सजाई जाएगी। जिले के आयुर्वेद अस्पतालों में राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस मनाया जाएगा। जिला परिषद सभागार में दोपहर 12 बजे जिला स्तर पर भगवान धन्वंतरी जयंती मनाई जाएगी। मंगलवार को भगवान धन्वन्तरी की पूजा के साथ ही धनतेरस पर बाजार में लक्ष्मी की बरसात होगी। धनतेरस के अबूझ मुहुर्त के चलते शहर में स्थित विभिन्न कम्पनियों के शोरूम से दुपहिया वाहनों की खरीदारी होगी। मुहुर्त के चलते लोगों ने अपने पसन्द की बाईक, स्कूटर सहित अन्य वाहन बुक करवा दिए हैं। धनतेरस पर नए वाहनों के साथ ही लोग घरों के लिए नई वस्तुएं, सोने -चांदी के आभूषण सोने -चांदी के सिक्के की खरीदारी भी करेगें।

कांच की वस्तु खरीदने से बचें-
इस दिन कुछ न कुछ अवश्य खरीदना चाहिये, यह शुभ माना जाता है। परन्तु कांच की वस्तु खरीदने से बचना चाहिये, यह वस्तु इस दिन खरीददारी के लिये अशुभ मानी जाती है।

खरीददारी का मुहूर्त

धनतेरस पर सुबह 9 बजे से दोपहर 1:30 बजे तक खरीददारी शुभ रहेगी। दिन-भर में भी खरीददारी की जा सकेगी।

पूजा का शुभ मुहूर्त

सायं 7:30 से रात्रि 9 बजे तक

0

LEAVE A REPLY