अमेरिका – अमेरिका की कम्पनी गूगल ने एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को निकाल दिया है। कारण यह रहा की कंपनी के एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने एक इंटरनल मेमो लिखा था जो कंपनी के अंदर दूसरे कर्मचारियों के बीच तेजी से वायरल होने लगा। इस लेख में उन्होंने इस बात की भी जिक्र किया है कि गूगल में कई पदों पर महिलाएं नहीं हैं, इसलिए उनका पुरषों से बायोलॉजिकल अंतर है। उन्होंने कंपनियों में महिलाओं के प्रतिनिधित्व न होने की वजह जैविक कारणों को बताया है। इस लेख में कहा गया है कि महिला और पुरुष की क्षमताएं अलग होती हैं। ऐसा लिख कर उन्होंने यह बताना चाहा है कि शीर्ष पदों पर महिलाओं क्यों नहीं हैं। रिपोर्ट के मुताबिक इंजीनियर ने महिलाओं को लेकर आर्टिकल लिखा है। अपने लेख में उन्होंने कहा है कि महिलाएं टेक कंपनियों के लिए लीडर्शिप रोल के फिट नहीं हैं। गौरतलब है कि बड़ी टेक कंपनियां समानता को लेकर बढ़ चढ़कर बोलती हैं। लेकिन इस इंजीनियर के लेख में महिलाओं के प्रति भेदभाव और लीडर्शिप रोल में फिट न होने को लेकर बाते हैं। गूगल के अंदर भी इसे लेकर काफी विवाद हुआ और अब निकाले जाने के बाद खबर आ रही है कि वो कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं। इस दस्तावेज की हेडिंग गूगल आईडियोलॉजिकल इको चैंबर है। उन्होंन इसमें लिखा है कि टेक कंपनी ने महिलाओं अच्छे पदों पर सिर्फ इसलिए नहीं हैं, क्योंकि उनके साथ भेदभाव होता है। बल्कि यहां महिलाएं पुरुषों की बराबरी नहीं कर सकती हैं।

0

LEAVE A REPLY