सागर : सुनने में तो तो गाना सा लग रहा है लेकिन यह एक बात शराबी युवकों ने हमारे संवादाता को दिखा दी। यह सच्चाई है सागर रेलवे स्टेशन की यहा जितना मर्जी हो बोतल लो और शुरु हो जाओं यहां कोई रोकने टोकने वाला नही है।
सागर का आदर्श रेलवे स्टेशन शराब खोरी का अड्डा भी बना हुआ है। स्टेशन परिसर में स्टेशन के मुख्य दरवाजे के बाजू में बैठकर बंजारे समाज का एक परिवार सरेआम दोपहर में शराब पी रहे है। आने जाने वाले दूर होकर निकल रहे है। वंही इनको रोकने वाला न तो जीआरपी पुलिस है, और न ही स्टेशन का प्रबन्धन। पिता और उसका बेटा सभी नशे में मद मस्त दिख रहे है। इस मामले में जब शराब खोरी कर रहे युवक के पिता से बात की तो उसका कहना है की उसका लड़का विकलांग है तथा हम लोग मांग कर खाते है। इस मामले में जब सागर रेलवे स्टेशन के स्टेशन मास्टर तथा रेल्वे पुलिस के अधिकारियो से बात करनी चाही तो उनहोने मीडिया से बात करने से मना कर दिया।
आपको बता दें रेल पुलिस इन लोगों से कुछ नहीं कहती क्योकि उन्हे पता है कि इनको थाने ले जाकर क्या मिलेगा। हां अगर कोई सज्जन दिखने वाला व्यक्ति मध्यम वर्गीय व्यक्ति यह करे तो बबाल खड़ा कर देंगें। समाज के रखवालों को जरा इस ओर ध्यान देने की जरुरत है, क्योकि जब इन्हे मांगने से नही मिलता तो ये शराब की लत की वजह से स्टेशन परिशर में चोरी भी करते हैं।
रिपोर्ट – सरजू पटैल

0

LEAVE A REPLY